Saturday, April 20

मन शरीर का वह हिस्सा है जो सोचने और समझने का कार्य करता है : मोगरे

मन शरीर का वह हिस्सा है जो सोचने और समझने का कार्य करता है : मोगरे


रायपुर। वाणिज्य परिषद एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा माइंड एंड सक्सेस विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में मिस्टर अलक्षेंद्र मोगरे जो कि नेशनल ट्रेनर एंड स्पीकर है ने अपने व्याख्यान में मन एवं मस्तिष्क को सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर बताया और मन मस्तिष्क की उस क्षमता को बताया जो मनुष्य को चिंतन शक्ति, स्मरण-शक्ति, निर्णय शक्ति, भाव, एकाग्रता, व्यवहार में सक्षम बनाती है। मन शरीर का वह हिस्सा है जो सोचने और समझने का कार्य करता है।

उन्होंने मन की चार प्रवृत्तियां बताई हैं।  व्यक्ति अक्सर वर्तमान, अनुपस्थित, एकाग्र और दोहरे मन वाले होते हैं। जो व्यक्ति जीवन में अधिकतर वर्तमान मन के साथ आगे बढ़ते हैं वे जीवन में सफलता पाते। अपने मन पर बिलीव करके आप कैसे सफलता प्राप्त कर सकते हैं इन सब की जानकारी दी गई। इन सभी बातों को प्रक्टिकल करके समझाएं। कार्यक्रम में वाणिज्य परिषद के सचिव डॉ. राजेश अग्रवाल, डॉक्टर प्राध्यापक पदमा सोमनाथे, कविता सिलवाल, ज्योति वर्मा ,मान्या शर्मा, रात्रि लहरी, कार्यक्रम अधिकारी एवं छात्र – छात्राएं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *