Friday, December 9

धरमपुरा में भीड़ ने दो बदमाशों को मार गिराया

धरमपुरा में भीड़ ने दो बदमाशों को मार गिराया


ग्वालियर

ग्वालियर के गिजोर्रा स्थित धरमपुरा गांव में सोमवार सुबह हुई मॉब लिंचिंग में दो लोगों की हत्या कर दी गई। गांव में पंचायत के दौरान धमकाने के लिए पहुंचे 3 बदमाशों ने फायरिंग कर दी। इसी दाैरान मौजूद करीब 50 से ज्यादा गांव वालों ने बदमाशों को घेर लिया। दो लोग भीड़ के बीच फंस गए। वहीं, तीसरा भाग गया। गांव वालों ने कुल्हाड़ी और पत्थर मारकर दोनों की हत्या कर दी।

सूचना पर पुलिस अफसर मौके पर पहुंचे। दोनों गुंडों के शव पंचायत भवन के पास पड़े मिले हैं। दोनों बदमाशों की बंदूक और कट्‌टे व कारतूस का पट्‌टा पास ही मिले हैं। मृतकों की पहचान लाखन सिंह गड़रिया निवासी किटोरा, राजपाल बघेल निवासी दिनारा के रूप में हुई है। लाखन पर 10 हजार रुपए का इनाम है। पुलिस यह पड़ताल कर रही है कि भीड़ में कौन-कौन शामिल था।

यह है मामला
गांव में रहने वाले राजेन्द्र बघेल और चंद्रभान कुशवाह के परिवारों के बीच विवाद चल रहा है। असल में, राजेन्द्र के घर की लड़की से चंद्रभान कुशवाह का अफेयर होने की बात पुलिस को पता चली है। इसी सिलसिले में 2 नवंबर को राजेन्द्र बघेल के कहने पर 10 हजार का इनामी बदमाश लाखन गड़रिया, राजपाल बघेल व अन्य साथी के साथ आया। उन्होंने चंद्रभान की मारपीट की थी। मामले में चंद्रभान ने थाने में शिकायत नहीं कराई थी। उसने अपनी बात पंचायत में उठाई। विवाद को सुलझाने के लिए सोमवार सुबह 11 बजे गांव के चौपाल पर पंचायत लगी थी। एक तरफ राजेन्द्र बघेल का परिवार था। दूसरी ओर चंद्रभान का परिवार था। पंच दोनों की बातों को सुन रहे थे, तभी वहां दो बाइक पर सवार होकर 4 बदमाश पहुंचे। इनमें लाखन, राजपाल बघेल, उसका बड़ा भाई गजेंद्र बघेल अन्य साथी पहुंचे।

आते ही कर दी फायरिंग
बदमाशों ने आते ही पंचायत की भीड़ में शामिल होकर हवाई फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद भीड़ तितर-बितर हो गई। बदमाशों ने पंचों से कहा कि यहां फैसला हम करेंगे। कुछ ही देर में गांव को लोग कुल्हाड़ी, डंडे व पत्थर लेकर खड़े हो गए। बदमाशों की नजर जब तक भीड़ पर पड़ी, तो वह चारों तरफ से घेरे जा चुके थे।

भीड़ ने गर्दन, सिर में कुल्हाड़ी मारी, मुंह पर पत्थर मारे
गांव के लोगों ने जब बदमाशों को घेरा तो एक गुंडा भीड़ के बीच से निकल कर भाग गया। वहीं, कट्‌टा और बंदूक लहरा रहे लाखन और राजपाल बघेल को लोगाें ने घेर लिया। भीड़ ने उनके सिर पर कुल्हाड़ी से कई वार किए। जब वह जमीन पर गिर गए, तो मुंह पत्थर से कुचल दिए। राजपाल को चौपाल पर ही मारा, लेकिन लाखन बचने के लिए भागा। करीब 100 कदम की दूरी पर नाली में पैर पड़ने से वह गिरा। उसे भीड़ ने वहीं मौत के घाट उतार दिया।

लूट, हत्या के प्रयास के मामले हैं दर्ज
मारे गए बदमाश लाखन गड़रिया पर लूट, हत्या के प्रयास, रेप, डकैत, अवैध वसूली के 23 मामले दर्ज हैं। उस पर पुलिस द्वारा 10 हजार रुपए का इनाम घोषित था। वह डबरा के किटोरा गांव का रहने वाला था, जबकि राजपाल दिनारा गांव का रहने वाला है। पुलिस राजपाल और गजेंद्र का भी आपराधिक रिकॉर्ड पता कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.