Saturday, April 20

रेस्टोरेंटों के मेन्यू में कीमत व कैलोरी की होगी जानकारी

रेस्टोरेंटों के मेन्यू में कीमत व कैलोरी की होगी जानकारी


भोपाल
राजधानी के एक हजार से अधिक होटलों और रेस्टोरेंट्स में आने वाले दिनों में बदला हुआ मेन्यू दिखेगा। मेन्यू में फूड आइटम्स की कीमत के साथ खाने की न्यूट्रिशन वैल्यू भी लिखी जाएगी। यानि जो खाना आप खाएंगे, उसमें कितनी कैलोरी है, उसकी भी जानकारी मेन्यू में लिखी होगी। दरअसल, भोजन में शामिल पौष्टिक तत्वों से लोगों को अवगत कराने के लिए भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने ड्राफ्ट तैयार किया है। फिलहाल अभी व्यापारियों पर कार्रवाई नहीं की जाएगी। व्यापारियों को तैयारी के लिए 30 जून तक का समय दिया गया है। इस संबंध में आयुक्त खाद्य सुरक्षा को निर्देश जारी किए हैं।  

नए ड्राफ्ट के तहत पिज्जा, बर्गर बेचने वाले रेस्टोरेंट सहित सभी बड़े रेस्टोरेंट्स और होटल को जल्द ही अपने मेन्यू पर यह भी लिखना होगा कि उसमें मौजूद फूड आइटम्स में कितनी कैलोरी है। जैसे एक 100 ग्राम के बर्गर में 295 कैलोरी और 100 ग्राम पिज्जा में 260 कैलोरी होनी चाहिए। ड्राफ्ट के मुताबिक खाने में मौजूद पोषक तत्व की मात्रा भी पैकेट पर लिखनी होगी। जानकारी के अनुसार यह नियम उन सभी रेस्टोरेंट और होटलों में लागू होगा, जहां मेन्यू कार्ड का इस्तेमाल होता है। इन्हें अपने मेन्यू कार्ड पर हर फूड आइटम के सामने उसकी कैलोरी वैल्यू भी लिखनी होगी। इसके लिए एफएसएसएआई ने गाइडलाइन जारी की है।

मिलेगी सभी उपयोगी जानकारी
होटलों और रेस्टोरेंट्स में परोसे जा रहे भोजन के विभिन्न पदार्थों में कितना प्रोटीन, विटामिन, काबोर्हाईड्रेट, कैल्शियम, खनिज लवण, एंटी आॅक्सिडेंट्स, फाइबर, वसा आदि है, इसकी जानकारी मेन्यू कार्ड में फूड डिश के आगे लिखी जाएगी। इसका मुख्य उद्देश्य यह है लोगों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ेगी और उन्हें खाते समय इस बात का अंदाजा लगेगा। जो भोजन वह खा रहे हैं, उनके शरीर के लिए कितना फायदेमंद है। साथ ही इसके जरिए वह अपनी भोजन की मात्रा को मैनेज कर सकेंगे। साथ ही खाने में उपयोग हो रहे तेल और मसाले की भी जानकारी आपके सामने होगी।

वर्जन:-
एफएसएसएआई ने होटल और रेस्टोरेंट के लिए मेन्यू में न्यूट्रिशियन वैल्यू की जानकारी देने के निर्देश जारी किए हैं। हालांकि अभी इसे अनिवार्य नहीं किया गया है। होटल संचालकों को 30 जून तक का समय तैयारी के लिए दिया गया है। इससे उपभोक्ता को लाभ होगा। उन्हें अब परोसी जा रही सामग्री के संबंध में सही जानकारी मिल सकेगी।
डीके वर्मा, वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *