Thursday, July 25

8 जून से खुलेंगे धर्मिक स्थल, दर्शन के लिए भक्तों को करनी होगी ऑनलाइन बुकिंग

8 जून से खुलेंगे धर्मिक स्थल, दर्शन के लिए भक्तों को करनी होगी ऑनलाइन बुकिंग


भोपाल(न्यूज डेस्क) देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाइन के दौरान केन्द्र सरकार ने धर्मिक स्थलों को बंद रखने का आदेश दिया था। लेकिन अनलॉक 0.1 में केन्द्र सरकार ने 8 जून से धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत दे दी है। लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने धार्मिक स्थलों के लिए एसओपी जारी करते हुए खहा कि धार्मिक स्थलों में काफी संख्या में लोग जमा होते है। ऐसे में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए नियमों का पालन करना होगा। साथ में अन्य जरुरी मापदण्डों का पालन करना बेहद जरुरी है। हालाकि कि अभी कंटेनमेंट जोन में धार्मिक स्थल नहीं खोले जाएंगे।

महाकाल में लागू होगी नई व्यवस्था

 संक्रमण से बचाव के लिए सभी मंदिरों में नई दर्शन व्यवस्था लागू करने की योजना है। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को एक दिन पहले बुकिंग करानी होगी, इसके लिए मंदिर समिति एप लांच करेगी। साथ ही टोल फ्री नंबर भी जारी किया जाएगा। जिस पर कॉल कर आप दर्शन के लिए बुकिंग करा सकेंगे। श्रद्धालु सुबह साढ़े 6 बजे से रात सवा 8 बजे तक दर्शन कर सकेंगे। इस दौरान गर्भगृह में प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। इसके साथ ही पूजा की सामग्री ले जाने पर भी प्रतिबंध रहेगा। सिर्फ सामान्य दर्शन ही कर सकते हैं। इसके अलावा भस्मारती दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का प्रवेश भी प्रतिबंधित रहेगा।

ओरछा मे ऑनलाइन होगी बुकिंग, निशुल्क रहेंगे दर्शन

बुंदेलखंड के ओरछा का राम राजा सरकार के मंदिर भी 8 जून से खुलेगा। कोरोना संक्रमण बीमारी के चलते दर्शन करने के नियमों में भी बदलाव किया गया है। अब भक्तों को दर्शन के लिए ऑनलाइन टिकट लेनी पडेगी। टिकट के बिना श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं मिलेगा। बेवसाइट पर ऑनलाइन पास को निशुल्क रखा गया है। भक्तों www.ramrajatemple.mp.gov.in बुकिंग करना होगी।

मंदिरों में लगेगी सैनिटाइज मशीन

मंदिर समिति से मिली जानकारी के मुताबिक मंदिर परिसर में सैनिटाइजिंग मशीन लगाई जाएगी। मंदिर परिसर में घुसने से पहले भक्तों को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए, दोनों भक्तों के बीच लगभग 2 गज की दूरी का विशेष ख्याल रखना होगा। इसके साथ ही मंदिर परिसर में दर्शनार्थियो के हाथ धोने के लिए वॉशवेसन लगाए जाएंगे।

 बच्चे और बुजुर्ग की मनाही

हालाकि मंदिरों में 65 साल से ज्यादा उम्र के लोद, 10 साल से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती महिलाओं को धार्मिक स्थलों में जाने की मनाही है। अनलॉक 0.1 में बच्चे, बुजुर्ग और गर्भवती महिलाओं को घर में रहने को कहा गया है।

Edit By: Amit Tiwari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *