Friday, December 9

बेटी के कहने पर पढ़ाई शुरू की, 12वीं पास कर लिया एलएलबी में दाखिला

बेटी के कहने पर पढ़ाई शुरू की, 12वीं पास कर लिया एलएलबी में दाखिला


भोपाल

 

फैमिली कोर्ट में एक ऐसा मामला पहुंचा, जिसमें पति ने पत्नी को सिर्फ इसलिए छोड़ दिया, क्योंकि वह 10वीं पास थी। पति एक निजी कंपनी में ग्राफिक्स डिजाइनर था। पति ने घर छोड़ते वक्त पत्र में लिखा कि वह मानसिक और शैक्षणिक रूप से उसके स्तर की नहीं है। उसे लड़का चाहिए था, लेकिन पत्नी ने बेटी को जन्म दिया।

पति के इस तरह छोड़ने से सदमे में आई महिला को उसकी 11 साल की बेटी ने डिप्रेशन से निकाला। उसे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। 20 साल पहले पढ़ाई छोड़ चुकी महिला ने 12वीं की परीक्षा दी। वह पास हो गई। अब उसने बीएएलएलबी में एडमिशन लिया है। महिला का कहना है कि वह पति को तलाक नहीं देगी। वह उससे ज्यादा डिग्री लेगी और अपने अधिकारों के लिए लड़ेगी।

पति ने साथ रहते लगाया था तलाक का प्रकरण, नोटिस मिलने पर पता चला

पति पूरा सामान लेकर चला गया… कोर्ट में दायर परिवाद में महिला ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान 12-13 मई 2020 की रात पति अचानक घर का सारा कीमती सामान, नगदी, दस्तावेज और खाने-पीने की सामग्री भी कार में भर उसे अकेला छोड़कर अपने पैतृक गांव चला गया। पति ने रात में ग्रीन टी में कुछ मिलाकर दिया था। सुबह नींद खुली तो पति की इस हरकत का पता चला। उसने कई बार पति और ससुराल पक्ष से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन किसी ने भी फोन नहीं उठाया।

पति की धोखाधड़ी का चार महीने बाद पता लगा

महिला का कहना है कि पति के जाने के बाद उसे कोर्ट से तलाक का नोटिस मिला। पति ने कोर्ट में जब तलाक का केस दर्ज कराया, उस समय वह उसके साथ ही रह रहा था। उसे पता ही नहीं चला कि पति धोखा कर रहा है। पति द्वारा की गई धोखाधड़ी की शिकायत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बाल आयोग, महिला आयोग आदि कई फोरम में भी की है। उसने काेर्ट में भरण-पोषण, घरेलू-हिंसा का केस दर्ज कराया, जो विचाराधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.