Tuesday, November 29

पिता से बात हुई सुबह, पटना पहुंचे तो मिली बेटी की लाश, दहेज के लिए विवाहिता की गला दबाकर हत्या, पति गिरफ्तार

पिता से बात हुई सुबह, पटना पहुंचे तो मिली बेटी की लाश, दहेज के लिए विवाहिता की गला दबाकर हत्या, पति गिरफ्तार


पटना
चार लाख रुपये दहेज नहीं देने पर दीघा थाने के मायका कॉलोनी में विवाहिता शालू देवी की गला दबाकर हत्या कर दी गई। हत्या के आरोप में पुलिस ने मृतका के पति रवि कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं शव कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। गिरफ्तार पति रवि कुमार मूल रूप से छपरा जिले के मांझी के चटिया गांव का रहने वाला है, जबकि उसकी पत्नी शालू का मायका मोतिहारी के बड़का बलुआ पताही में था। दोनों की शादी 15 जून 2019 को हुई थी। विवाहिता पति के साथ दीघा के मायका कॉलोनी में किराये का कमरा लेकर रहती थी। दीघा थाना प्रभारी राजेश कुमार सिन्हा ने बताया कि पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या के कारणों की जानकारी मिल सकती है। बताया गया है कि गिरफ्तार रवि कुमार एक कपड़े की दुकान में काम करता है। उसे अपनी कपड़े की दुकान खोलनी थी। इसलिए वह शालू के पिता भगेसर प्रसाद से चार लाख की डिमांड कर रहा था, जिसे देने में वे लोग असमर्थ थे। इसी बात को लेकर रवि हमेशा शालू के साथ मारपीट करता था।

भगेसर प्रसाद ने बताया कि वे अपने ग्रामीण नंदकिशोर प्रसाद को डॉक्टर से दिखाने के लिए पटना आये थे। शनिवार को 11 बजे उनकी बेटी शालू ने फोन किया और घर पर आने को कहा। इसके बाद वे नंदकिशोर प्रसाद को डॉक्टर से दिखाने में व्यस्त हो गये और फिर जब एक घंटे बाद फोन किया तो बेटी के मोबाइल का स्विच ऑफ मिला। जब वे अपनी बेटी के घर पहुंचे तो पता चला कि कमरे में ताला लटका हुआ है और परिजन अस्पताल गये हुए हैं। भगेसर प्रसाद ने अपने समधी संजय सिंह को फोन किया तो उन्होंने बताया कि उनकी बेटी अब दुनिया में नहीं रही। उन्होंने बताया कि उनका दामाद चार लाख रुपये मांग रहा था। इसी को लेकर उनकी बेटी की गला दबा कर हत्या कर दी। इसमें उनके दामाद के साथ ही उसकी मां भी शामिल थी।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.