Friday, December 9

फंदे पर लटका रहा युवक 24 घंटे बाद पुलिस पहुंची फिर युवक को फंदे से उतारा

फंदे पर लटका रहा युवक 24 घंटे बाद पुलिस पहुंची फिर युवक को फंदे से उतारा


दमोह

 

पथरिया थाना क्षेत्र के सदगुवां गांव में गुरुवार को फंदे से लटके एक युवक के शव को निकालने के लिए पुलिस एक दिन बाद शुक्रवार सुबह गांव पहुंची। परिवारवालों का आरोप है कि गुरुवार शाम जब पुलिस थाने पहुंचे तो पुलिस ने उनसे कह दिया कि वह उसकी फोटो खींच कर भेज दें। पूरे दिन और रातभर शव वैसे ही लटका रहा। परिजन पुलिस का इंतजार करते रहे। शुक्रवार को दोबारा परिजन जब पुलिस थाने पहुंचे तब जाकर पुलिस ने गांव पहुंचकर पंचनामा किया।

मृतक संतोष अहिरवाल के रिश्तेदार नाथूराम ने बताया कि संतोष बुधवार रात को अपने कमरे में सोने गया था। गुरुवार को जब वह शाम तक बाहर नहीं आया तो परिवारवाले उठाने पहुंचे। दरवाजा खटखटाने के बाद भी जब भीतर ने कोई जवाब नहीं मिला तो कुछ लोग छत पर चढ़े और छप्पर हटाकर देखा। भीतर संतोष फंदे से लटका हुआ था। इसके बाद सूचना देने परिवारवाले वे पथरिया थाने पहुंचे। घटना की जानकारी देने पर पुलिस ने साथ आने की जगह घर पहुंचकर फंदे पर लटके युवक की फोटो खींचकर भेजने को कहा।

नाथूराम ने बताया की छत पर खप्पर पर चढ़कर फोटो खींचना संभव नहीं था, इसलिए वह रातभर घर पर ही रहे। शुक्रवार सुबह वह जब दोबारा पुलिस के पास पहुंचे, इसके बाद 10 बजे के करीब पुलिस गांव पहुंची और शव का पंचनामा किया। एक और परिजन रामलाल ने बताया की सूचना के बाद भी पुलिस नहीं पहुंची और दिनभर और रात भर शव फंदे से लटका रहा। इस मामले में पथरिया थाना टीआई एमपी गौड़ से बात करने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.