Wednesday, April 17

ग्रीष्मकाल में पेयजल संकट की स्थिति निर्मित न हो – राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पंवार

ग्रीष्मकाल में पेयजल संकट की स्थिति निर्मित न हो – राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पंवार


ग्रीष्मकाल में पेयजल संकट की स्थिति निर्मित न हो – राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पंवार

1500 से अधिक मतदाता वाले मतदान केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाए जाने का  भेजें प्रस्ताव: अनुपम राजन

एक सप्ताह में नाम जोड़ने, हटाने और संशोधन के लिए प्राप्त हुए आवेदनों का करें निराकरण

भोपाल

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास नारायण सिंह पंवार ने जल निगम एवं पीएचई विभाग को निर्देश दिये कि आगामी ग्रीष्मकाल में किसी भी गांव में लोगों को पीने के पानी की समस्या उत्पन्न नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि 15 मार्च से पहले मेंटेनेंस का कार्य पूरा हो जाना चाहिए। खराब पड़े हेड पंप ट्यूबवेल को जल्द से जल्द दुरुस्त करा कर ग्रीष्म काल में लोगों को पानी की सप्लाई की पूर्ति की जाए। राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पंवार बुधवार को जनपद पंचायत ब्यावरा में आयोजित अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

राज्य मंत्री पंवार ने कहा कि किसी भी स्कूल में अगर शिक्षक नशा करके ड्यूटी करने आता है तो उस पर तत्काल कार्रवाई की जाए। एक माह के अंदर आयुष्मान कार्ड का टारगेट पूरा किया जाए। स्वास्थ्य केंद्रो पर चिकित्सकों की पूर्ति का प्रस्ताव बनाकर जल्द से जल्द शासन को भेजे जाए। वन अधिकारियों को निर्देश करते हुए कहा कि विवादास्पद भूमि का निराकरण कर जल्द से जल्द कार्रवाई पूरी की जाए। ऊर्जा विभाग को निर्देश दिए कि खेती का समय है विद्युत आपूर्ति 10 घंटे सुनिश्चित करें।

राज्यमंत्री पंवार ने कहा कि कृषि विभाग जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी हर किसान को होनी चाहिए इसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए। उन्होंने कहा कि अधिकारी जमीनी स्तर पर कार्य करें। जनपद पंचायत ब्यावरा की समीक्षा बैठक कर नागरिकों की समस्याओं को जल्द से जल्द दूर करने एवं क्षेत्र में हो रहे विकास के कार्यों में और अधिक गति लाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। इस दौरान संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

1500 से अधिक मतदाता संख्या वाले मतदान केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाए जाने का जल्द भेजें प्रस्ताव: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन

एक सप्ताह में नाम जोड़ने, हटाने और संशोधन के लिए प्राप्त हुए आवेदनों का करें निराकरण

लोकसभा निर्वाचन-2024 की तैयारी के संबंध में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की बैठक

भोपाल

लोकसभा निर्वाचन-2024

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने बुधवार को निर्वाचन सदन भोपाल से कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की। लोकसभा निर्वाचन-2024 की तैयारियों के संबंध में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ चर्चा की।

इस दौरान राजन ने कहा कि 1500 से अधिक मतदाता संख्या वाले मतदान केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाए जाने का जल्द से जल्द प्रस्ताव भेजे। मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने और संशोधन के लिए प्राप्त हुए लंबित आवेदनों का एक सप्ताह में निराकरण करें। मतदाता सूची पूरी तरह से शुद्ध हो। मृत व दोहरी प्रवृष्टि वाले मतदाता ना हो, यह सुनिश्चित कराएं। सेक्टर अधिकारी मतदान केंद्रों का भ्रमण करें। मतदाताओं को जागरूक करने के लिए स्वीप गतिविधियों में तेजी लाएं। राजन ने कहा कि 18 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके युवाओं का नाम जोड़ने अभियान चलाएं।

इन बिंदुओं पर की चर्चा

लोकसभा निर्वाचन 2024 के अंतर्गत 1500 से अधिक मतदाता वाले मतदान केंद्रों के सहायक मतदान केंद्र बनाये जाने की कार्यवाही, मतगणना स्थल के प्रस्ताव की तैयारी का विवरण, स्पेशल एज्युकेटिव मजिस्ट्रेट की शक्तियां दिए जाने का प्रस्ताव, फॉर्म 6, 7, 8 के प्राप्त हुए आवेदनों का निराकरण, मतदाता फोटो पहचान-पत्रों का वितरण, विभिन्न नोडल अधिकारियों की नियुक्तियां, निर्वाचन सामग्री की व्यवस्था, मतदान दल / मतगणना दल का गठन एवं प्रशिक्षण दिनांक का निर्धारण, मतदान केंद्र की तैयारी, वल्नरेबिलिटी मैपिंग,स्ट्रांग रूम एवं मतगणना स्थल का निर्धारण, एफएसटी, एसएसटी और वीएसटी दलों का गठन, नाकों का निर्धारण, इंटर स्टेट बॉर्डर मीटिंग, रिटर्निंग अधिकारी स्तर पर सूचना केंद्र की स्थापना, सम्पत्ति विरुपण दल का गठन, सहायक व्यय प्रेक्षक की नियुक्ति, रूट चार्ट का निर्धारण, स्पेशल पुलिस अधिकारी की नियुक्ति का प्रस्ताव, काउंटिंग टेबल का निर्धारण सहित निर्वाचन से संबंधित अन्य विषयों पर चर्चा की।

बैठक के दौरान अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजेश कुमार कौल, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राकेश सिंह, तरूण राठी और बसंत कुर्रे उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *