Thursday, July 25

जोबट की जंग में आज दोनों ही दल के दिग्गज लगा रहे ताकत

जोबट की जंग में आज दोनों ही दल के दिग्गज लगा रहे ताकत


भोपाल
जोबट विधानसभा उपचुनाव में आज का दिन महत्वपूर्ण हो गया है। कांग्रेस और भाजपा के दिग्गज आज इस सीट पर अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने आज सुबह यहां पर दो सभाएं की। दोपहर में यहां पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ ही केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा पहुंच रहे हैं। कांग्रे्रस का अभेद गढ़ मानी जाने वाली जोबट में आज भाजपा अपनी पूरी ताकत झोंक रही है।

भाजपा के तीन दिग्गज नेता एक साथ यहां पर सभा करने आ रहे हैं। तीनों ही नेता अम्बुआ में सभा करेंगे।इस सभा में झाबुआ और अलीराजपुर जिले के कई कांग्रेस नेताओं को भाजपा में शामिल कराने की तैयारी है। इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खंडवा में आज रात को रुकेंगे। इस दौरान वे क्षेत्र के लोगों से बातचीत करेंगे। इधर कमलनाथ ने आज दो सभाएं की। सभा करने से पहले वे भाभरा में शहीद चंद्रशेखर आजाद की समाधि स्थल पर पहुंचे। यहां पर उन्हें नमन करने के बाद उन्होंने भाभरा में ही पहली सभा की।

 उपचुनाव प्रचार में कमलनाथ आज पहली बार इस सीट पर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को इस चुनाव के जरिए सरकार का हिसाब करना है। कोरोना के दौर में यहां  के लोगों को ना आॅक्सीजन मिली, न इंजेक्शन मिले और इलाज के लिए अस्पताल में जगह तक नहीं मिली। सरकार ने लोगों से वादा किया था कि जिन के यहां पर किसी का निधन हुआ है उस परिवार को वह आर्थिक मदद करेगी, लेकिन वादा कर सरकार भूल गई। महंगाई ने कमर तोड़ दी है। आदिवासियों का विकास सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है। इस सभा के बाद कमलनाथ दूसरी सभा उदयगढ़ में करेंगे।

जोबट सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती है। यहां पर 1967 से 1998 तक का चुनाव कांग्रेस लगातार जीती। वर्ष 2003 और 2013 में ही यहां पर भाजपा जीत सकी। वर्ष 2008 और 2018 में भी यहां से कांगे्रस जीती थी। कांग्रेस ने इस सीट को जीतने के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया, पूर्व गृह मंत्री बाला बच्चन, युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया को जिम्मेदारी दी है। भाजपा ने यहां से सुलोचना रावत को कांग्रेस से अपनी पार्टी में लाकर टिकट दिया है, इसलिए भाजपा किसी भी हालत में यह सीट हारना नहीं चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *