Saturday, April 20

अमेरिका यूएई की रक्षा के लिए तैनात करेगा एफ-22 फाइटर जेट

अमेरिका यूएई की रक्षा के लिए तैनात करेगा एफ-22 फाइटर जेट


दुबई
यमन के ईरान समर्थक हूती विद्रोहियों के हमले झेल रहे संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) की रक्षा के लिए अमेरिका आगे आया है। अमेरिका ने ऐलान किया है कि वह अपने सबसे खतरनाक समझे जाने वाले F-22 फाइटर जेट और एक गाइडेड मिसाइल डेस्‍ट्रायर को यूएई के आसपास तैनात करेगा। अमेरिका का जंगी जहाज यूएसएस कोल खाड़ी देश के आसपास समुद्र में गश्‍त लगाएगा।

अमेरिकी सेना के मध्‍य कमान ने मंगलवार को एक बयान जारी करके कहा, 'हम समझते हैं कि यह एक मित्र की संकट के समय दूसरे मित्र की मदद है।' अमेरिकी सेना सेट्रल कमांड के कमांडर केनेथ एम मैकेंजी इस समय यूएई के आध‍िकारिक दौरे पर हैं। उन्‍होंने कहा कि फाइटर जेट और जंगी जहाज की तैनाती यूएई की हवाई रक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए है। यूएई इस समय हूती विद्रोहियों के मिसाइल और ड्रोन हमलों का सामना कर रहा है।

ड्रोन विमानों को उड़ाने भरने से पहले ही करेंगे तबाह
अमेरिकी जनरल ने कहा कि अमेरिका अपने सहयोगी देशों के साथ मिलकर दुश्‍मन के ड्रोन विमानों के उड़ाने भरने से पहले ही उन्‍हें तबाह करने के 'प्रभावी हल' को निकालने के लिए काम कर रहा है। इस तरह का सिस्‍टम ड्रोन विमानों की लॉन्‍च को पकड़ लेगा, उन्‍हें देख लेगा और उनकी उड़ान को ही बाधित कर देगा। उन्‍होंने कहा कि अगर आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो आप निश्चित रूप से इस स्थिति में होंगे कि ड्रोन विमानों को उनके रास्‍ते में तबाह कर दें।

दुनिया के सबसे खतरनाक विमानों में शामिल है F-22
एफ-22 रैप्टर पांचवी पीढ़ी के लड़ाकू विमान हैं। से दुनिया के सबसे उन्नत लड़ाकू विमानों में भी गिना जाता है। एफ-22 रैप्टर को अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने बनाया है। एफ-22 को 15 दिसंबर 2005 को अमेरिकी वायुसेना में शामिल किया गया था। अमेरिका ने अबतक एफ-22 के 195 यूनिट्स को बनाया है, जिनमें से 8 विमान टेस्टिंग के लिए रखे गए हैं। बाकी के 187 एफ-22 रैप्टर अमेरिका वायु सेना में ऑपरेशनल हैं। यह विमान इतनी खतरनाक तकनीकी से लैस है कि इसे अमेरिका ने किसी भी दूसरे देश को नहीं बेचा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *