Friday, January 27

अमेरिका ने जारी की ट्रैवल गाइडलाइन, 8 नवंबर से कर सकेंगे यात्रा 

अमेरिका ने जारी की ट्रैवल गाइडलाइन, 8 नवंबर से कर सकेंगे यात्रा 


 
वाशिंगटन

दुनिया में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका ने अब दुनिया के लिए अपने दरवाजे खोल दिए हैं। अमेरिका की बाइडेन प्रशासन ने सोमवार को नई ट्रैवल गाइडलाइन जारी की जिसके तहत कई नए नियमों की जानकारी दी गई है। व्हाइट हाउस के मुताबिक दिशानिर्देश में यूएस से बाहर रह रहे अमेरिकी नागरिकों के लिए राहत का फैसला लिया गया है। वहीं, अमेरिका आने के इच्छुक 10 फीसदी से कम टीकाकरण करने वाले देशों के नागरिकों के लिए जरूरी सूचना जारी की गई है। ऐसे देश के नागरिकों को यात्रा का वाजिब कारण बताना होगा।
 
गौरतलब है कि कोरोना वायरस से अमेरिका की हालत दुनिया में सबसे दयनीय हो गई थी, महामारी के चलते वहां 7 लाख से भी अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच अपने नागरिकों का तेजी से टीकाकरण करने के बाद अब बाइडेन सरकार ने दुनिया के लिए भी यूएस के दरवाजे खोल दिए हैं। गाइडलाइन के मुताबिक अमेरिका से बाहर रह रहे अपने नागरिकों को सूचित करते हुए बाइडेन सरकार ने कहा कि अगर उन्होंने वैक्सीन की डोज नहीं ली है और देश वापस आना चाहते हैं तो यात्रा से एक दिन पहले का कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा।
 
वहीं, लंबे समय तक अमेरिका से बाहर रहने वाले नागरिकों को भी एयरपोर्ट पर एक दिन पुराना कोविड नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगा। इसके अलावा ऐसे देश जहां 10 प्रतिशत से कम वैक्सीनेशन हुआ है, वहां के नागरिकों को अमेरिका आने का वाजिब कारण बताना होगा। अमेरिकी सरकार के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि 8 नवंबर से अनवैक्सीनेटेड अमेरिकी नागरिकों और लंबे समय तक बाहर रहने वाले निवासियों को देश में फिर से प्रवेश की अनुमति होगी।
 

यात्रा नियमों में दी गई छूट
यात्रा से तीन दिन पहले पूर्ण टीकाकरण वाले अमेरिकियों को अपना कोरोना परीक्षण करना होगा। वहीं, बिना टीकाकरण वाले विदेशी नागरिक केवल सीमित परिस्थितियों में ही प्रवेश कर सकेंगे। बता दें कि बाइडेन सरकार ने पिछले महीने सितंबर में ऐलान किया था कि यूएस आने से पहले सभी यात्रियों का पूर्ण टीकाकरण होना अनिवार्य है। हालांकि सोमवार को नियमों में कुछ राहत दी गई।एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 10 प्रतिशत से कम टीकाकरण दर वाले देशों से आने वाले लोगों को भी एक अनिवार्य कारण बताना होगा कि वे यूएस की यात्रा क्यों कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.