Thursday, February 29

आर्यन खान केस: NCB का दावा- डार्कनेट के जरिए किया गया था ड्रग्स का पेमेंट

आर्यन खान केस: NCB का दावा- डार्कनेट के जरिए किया गया था ड्रग्स का पेमेंट


मुंबई। 
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने शनिवार को बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान से जुड़े मामले में ड्रग्स के लेन-देन में डार्कनेट के इस्तेमाल का संकेत दिया है। समचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, एजेंसी ने आर्यन खान के इस नई खोज से जुड़े होने के बारे में कुछ नहीं कहा है। 

क्या है डार्क नेट?
डार्क नेट गुप्त इंटरनेट पोर्टल है जिसे केवल विशिष्ट सॉफ्टवेयर, कॉन्फ़िगरेशन आदि के साथ ही एक्सेस किया जा सकता है। यह पहली बार नहीं है जब एनसीबी ने क्रूज की छापेमारी के तुरंत बाद डार्कनेट और बिटकॉइन का जिक्र किया है। हालांकि, अब एजेंसी ने दावा किया है कि किस तरह से डार्कनेट का इस्तेमाल किया गया है। एनसीबी के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि एजेंसी ने आरोपी के पास से हाइड्रोपोनिक वीड जब्त किया है, जिसकी संख्या अब 20 है। इसे डार्कनेट के जरिए खरीदा गया था। एनसीबी ने छापेमारी के दौरान कथित तौर पर कुछ आरोपियों से एमडीएमए पाया था। अधिकारी ने कहा कि यह ड्रग्स ज्यादातर यूरोप और अमेरिका से मंगवाई जाती है। एजेंसी अब इस बात की जांच कर रही है कि आरोपी ने इसे कहां से हासिल किया।
 
शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स के साथ नहीं पकड़ा गया था, हालांकि एनसीबी उन पर एक बड़े नेटवर्क का हिस्सा होने का आरोप लगा रही है। तीन अक्टूबर को आर्यन सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किए जाने के बाद, एजेंसी ने कई छापे मारे। एक महीने में 12 अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में अचित कुमार भी शामिल है, जिसने हाल ही में अदालत से कहा था कि उसे 'पेडलर' कहकर उसका भविष्य खराब किया जा रहा है। वकील ने अदालत को बताया कि वह महामारी के कारण लंदन और भारत में एक विश्वविद्यालय में पढ़ता है। उसकी जमानत याचिका का एनसीबी ने भी विरोध किया है। एजेंसी ने कहा कि उन्हें एक पेडलर नहीं कह रही है, बल्कि उनके खिलाफ इसके कुछ सबूत हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *