Tuesday, February 27

एमपी में नहीं होगी बारदानों की कमी, खाद्य आपूर्ति मंत्री राजपूत ने दिया भरोसा, 10 जून तक चना,मसूर,सरसो की होगी खरीदी

एमपी में नहीं होगी बारदानों की कमी, खाद्य आपूर्ति मंत्री राजपूत ने दिया भरोसा, 10 जून तक चना,मसूर,सरसो की होगी खरीदी


एमपी में नहीं होगी बारदानों की कमी, खाद्य आपूर्ति मंत्री राजपूत ने दिया भरोसा

भोपाल(दीपेश जैन) मध्यप्रदेश के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने रबी उपार्जन के संबंध में समीक्षा बैठक ली। इस बैठक में अधिकारियों को निश्चित अवधि के पूर्व ही गेहूँ की रिकार्ड खरीदी के लिए बधाई दी। साथ ही उन्होंने कहा कि खरीदी के बाद खाद्यान्न का परिवहन कर उसे गोदामों में सुरक्षित रखने की व्यवस्था मानसून के पहले ही सुनिश्चित करें।

एमपी ने बनाया गेहूं उपार्जन का रिकॉर्ड
मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने अधिकारियों के साथ गेहूँ, चना, मसूर एवं सरसों की खरीदी और भंडारण पर भी चर्चा की । उन्होंने बताया कि प्रदेश में लगभग 120 लाख मीट्रिक टन गेहूँ समर्थन मूल्य पर क्रय किया जा चुका है। इसके अलावा 2 लाख 75 हजार मीट्रिक टन चना, मसूर एवं सरसों का उपार्जन किया गया है। गेहूँ के उपार्जन में प्रदेश ने इस वर्ष रिकॉर्ड बनाया है जो मध्यप्रदेश के इतिहास में सर्वाधिक उपार्जन से लगभग 50 प्रतिशत अधिक है।

 

15 लाख से ज्यादा किसानों ने बेची उपज
मंत्री राजपूत के मुताबिक इस वर्ष प्रदेश के 19 लाख किसानों ने पंजीयन कराया था, जिसमें से अभी तक 15 लाख 36 हजार किसानों ने खरीदी केन्द्रों पर गेहूँ उपार्जन कर लाभ उठाया। इसके पहले अधिकतम 50 से 60 प्रतिशत किसानों की तुलना में 80 प्रतिशत किसानों ने अपनी फसल समर्थन मूल्य पर बेची।

 

 

‘बारदानों की नहीं होगी कमी’

मंत्री राजपूत ने बताया कि अभी तक 100 लाख मीट्रिक टन खाद्यान्न का परिवहन कर उसका सुरक्षित भंडारण कराया जा चुका है। प्रमुख सचिव खाद्य श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि बारदानों की कमी एक दो दिन में पूरी कर ली जाएगी। इसके लिए जिन खरीदी केन्द्रों पर अतिरिक्त बारदाने हैं उन्हें आवश्यकता वाले खरीदी केन्द्रों पर पहुँचाया जा रहा है।

10 जून तक बेच सकेंगे चना, मसूर, सरसो
मंत्री राजपूत ने जानकारी दी कि प्रदेश में चना, मसूर और सरसों का उपार्जन 10 जून 2020 तक किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने किसानों को भरोसा दिलाया कि प्रदेश में उर्वरक और बीज की कमी नहीं होने दी जाएगी।
इस बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य शिवशेखर शुक्ला, प्रमुख सचिव सहकारिता उमाकांत उमराव, प्रबंध संचालक मार्कफेड पी. नरहरि, संचालक खाद्य अविनाश लवानिया, प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति अभिजीत अग्रवाल और अधिकारी मौजूद रहे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *