Friday, June 14

‘कंगना के लिए सरकार की गुलामी करना ही असली आजादी है, क्या इसी सोच के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है’

‘कंगना के लिए सरकार की गुलामी करना ही असली आजादी है, क्या इसी सोच के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है’


मुंबई
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने देश की आजादी को भीख बताने वाले दिए गए बयान पर कंगना रनौत की आलोचना की है। कंगना रनौत ने गुरुवार (11 नवंबर) को एक कार्यक्रम में कहा कि भारत को वास्तव में 2014 में स्वतंत्रता मिली, जब प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार सत्ता में आई। 1947 में देश को आजादी तो भीख में मिली है। असली आजादी तो 2014 में मिली है। कंगना रनौत के इस वीडियो को ट्वीट करते हुए स्वाति मालीवाल ने कहा है कि कंगना रनौत के लिए सत्ताधारी सरकार की गुलामी ही असली आजादी है। क्या इसी सोच के लिए कंगना को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है।

कंगना रनौत ने एक समाचार चैनल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आजादी को भीख बताया है। इसी वीडियो को ट्वीट करते हुए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, "वह (कंगना रनौत) भगत सिंह, चंद्र शेखर आजाद और (महात्मा) गांधी के स्वतंत्रता संग्राम को भिक्षा के रूप में देखती हैं। और वह उस बात को बोलने में आनंद ले रही हैं। सत्ताधारी सरकार की गुलामी ही असली आजादी है। कंगना यही सोचती हैं क्या इसी सोच के लिए उन्हें (कंगना) राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है?"

सोशल मीडिया पर 24-सेकंड के वायरल हुए वीडियो क्लिप में, कंगना रनौत कहती हैं कि 1947 में भारत की स्वतंत्रता स्वतंत्रता नहीं थी, बल्कि "भीख" (भिक्षा) थी। "…बेशक वो आजादी नहीं थी वो भीख थी। और जो आजादी मिली है वो 2014 में मिली है।" कंगना रनौत जब ये बात बोल रहीं थी को दर्शकों में कुछ लोगों को ताली बजाते हुए देखा जा सकता है।

इस सप्ताह की शुरुआत में पद्मश्री से सम्मानित रनौत ने भी शो में अपनी टिप्पणी में कांग्रेस पर भी निशाना साधा है। कंगना रनौत ने कहा, "अगर हमें 'भीख' के रूप में आजादी मिलती है, तो क्या यह आजादी भी है? अंग्रेजों ने कांग्रेस के नाम पर क्या छोड़ा … वे (कांग्रेस) अंग्रेजों का विस्तार थे …"। कंगना से पद्मश्री वापस लेने की मांग की जा रही है। कांग्रेस, शिवसेना, आप, राकांपा समेत कई विपक्षी पार्टियों ने कहा है कि एक्ट्रेस पर देशद्रोह लगना चाहिए और पद्मश्री वापस लिया जाना चाहिए। विपक्षी पार्टियों का कहना है कि कंगना रनौत ने देश के स्वतंत्रता आंदोलन का "अपमान" किया है। कांग्रेस को प्रतिध्वनित करते हुए, राकांपा ने शुक्रवार को एक्ट्रेस को दिए गए पद्म श्री को रद्द करने की मांग की और कहा कि उन पर स्वतंत्रता सेनानियों के अपमान के लिए मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *