Thursday, April 18

CM शिवराज सरकार का बड़ा कदम, मेगा इंडस्ट्रियल रीजन के साथ भोपाल-इंदौर के बीच इंटरनेशनल एयरपोर्ट

CM शिवराज सरकार का बड़ा कदम, मेगा इंडस्ट्रियल रीजन के साथ भोपाल-इंदौर के बीच इंटरनेशनल एयरपोर्ट


भोपाल
मध्यप्रदेश में अब तक का सबसे बड़ा इंडस्ट्रियल क्षेत्र विकसित होने जा रहा है। वहीं देश का सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी बनाया जाएगा। यह प्रदेश में रोजगार और निवेश बढ़ाने की दिशा में क्रांतिकारी कदम साबित हो सकता है। केन्द्रीय विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की रुचि से मध्यप्रदेश में देश का सबसे बड़ा अंतराष्टÑीय एयरपोर्ट बनने की राह खुली है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग की समीक्षा के दौरान विभाग के मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव और प्रमुख सचिव संजय श्ुाक्ला को निर्देशित कर चुके है कि इंटरनेशनल एयरपोर्ट के साथ ही मध्यप्रदेश में मेगा इंडस्ट्रियल रीजन के प्रोजेक्ट पर भी तेजी से काम शुरू किया जाए। जो मेगा इंडस्ट्रियल रीजन बनेगा उसमें इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी बनेगा।  आष्टा से सोनकच्छ के बीच इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनेगा। इसे शुरू करने का उद्देश्य प्रदेश में निवेश के लिए आने वाले औद्योगिक घरानों को देशभर में आने-जाने के लिए हवाई परिवहन की सुविधा मुहैया कराना है।

सिंधिया-दत्तीगांव के बीच मंथन
 दिल्ली में केन्द्रीय विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, औद्योगिक निवेश एवं नीति प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव और मध्यप्रदेश के औद्योगिक निवेश एवं नीति प्रोत्साहन विभाग के प्रमुख सचिव संजय शुक्ला,  एयरपोर्ट अथॉरिटी के चेयरमैन संजीव कुमार और विमानन विभाग के अधिकारियों के साथ बुधवार को लंबा मंथन हुआ है। विमानन मंत्रालय ने कई तरह के तकनीकी सुझाव दिए है। सेटेलाइट सर्वे जल्द पूरा करने को कहा है। कहां कितनी जमीन उपलब्ध है। भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट से इस नये इंटरनेशनल एयरपोर्ट की कितनी दूरी रहेगी। इसे दोनों एयरपोर्ट, रेलवे और राष्टÑीय तथा राज्य राजमार्गों से कैसे कनेक्क्ट किया जाएगा इस पर मंथन किया गया है।

सेटेलाइट सर्वे शुरू
इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए सेटेलाइट सर्वे शुरू हो चुका है।  एयरपोर्ट और मेगा इंडस्ट्रियल Ñरीजन के लिए फुल टाइम अधिकारी की तैनाती की जाएगी। जमीनों को देखने के लिए सर्वे होगा। एसटीवी का गठन किया जाएगा। इस पूरे प्रोजेक्ट के लिए प्राइवेट पार्टनर भी ढूंढे जाएंगे।

दो लाख रोजगार
मेगा इंडस्ट्रियल रीजन और इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शुरू होने से प्रदेश में दो लाख युवाओं को रोजगार मिल सकेगा। इसके अलावा मध्यप्रदेश में निवेश की संभावनाएं भी बढ़ जांएगी। नये उद्योग शुरू होंगे तो उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण उत्पाद रियायती दरों पर मिल सकेंगे।

इनका कहना
सोनकच्छ से आष्टा के बीच देश का सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाया जाएगा और इंदौर भोपाल रोड को अन्य मार्गों से जोड़ते हुए  मेगा इंडस्ट्रियल रीजन पर काम शुरू कर दिया गया है।
संजय शुक्ला, प्रमुख सचिव औद्योगिक निवेश नीति एवं प्रोत्साहन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *