Thursday, April 18

कोरोना के डर से किसी ने नहीं की बुजुर्ग की मदद

कोरोना के डर से किसी ने नहीं की बुजुर्ग की मदद


कोरोना के डर से किसी ने नहीं की बुजुर्ग की मदद

देश में कोरोना वायरस का कहर देखा जा रहा है. लोगों में कोरोना वायरस का डर इस कदर बैठ चुका है कि मुसीबत के वक्त में कोई किसी की मदद करने को भी तैयार नहीं है. ऐसा ही एक मामला दिल्ली से सामने आया, जहां एक बुजुर्ग इंसान बेहोश होकर बाजार में गिर गया और तीन घंटे तक किसी ने उसकी मदद भी नहीं की.

गर्मी के कारण बाजार में बेहोश होकर गिरा बुजुर्ग

मामला दक्षिण दिल्ली का है. जहां बाजार में 65 वर्षीय वृद्ध व्यक्ति बेहोश हो गया. तीन घंटे तक किसी ने भी उस शख्स की मदद नहीं की. हालांकि बाद में उसे अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. दरअसल, साउथ दिल्ली के पॉश मार्केट युसूफ सराय में बेहोश होकर गिरने वाले शख्स को दिल्ली पुलिस के एक स्टाफ ने पीपीई किट पहनकर एंबुलेंस में बैठाया और तीन घंटे बाद उसे लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में ले जाया गया.

तीन घंटे तक किसी ने नहीं की मदद

हालांकि वृद्ध व्यक्ति के इलाज में देरी के चलते मौत हो गई. 65 वर्षीय व्यक्ति पिछले साल तक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में एक अटेंडेंट के रूप में काम करता था. 65 वर्षीय बुजुर्ग को दक्षिणी दिल्ली के युसूफ सराय बाजार में बेहोश होकर गिरने के बाद तीन घंटे तक कोई मदद नहीं मिली. कोरोना वायरस के डर से आसपास के लोग मूकदर्शक बने रहे.

बुधवार को हुई इस घटना में दोपहर करीब 1.39 बजे एक राहगीर ने पुलिस कंट्रोल रूम को फोन करके उस आदमी के बारे में जानकारी दी. साउथ दिल्ली जिले के पुलिस के डिप्टी कमिश्नर अतुल कुमार ठाकुर ने कहा, ‘बीट पुलिस अधिकारी ने मौके पर पहुंचकर तीन एंबुलेंस को फोन किया, ताकि वह आदमी अस्पताल पहुंच सके. ठाकुर ने कहा, ‘हमारे एक कॉन्स्टेबल ने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) किट की व्यवस्था की, उसे पहना और बेहोश आदमी को एंबुलेंस में ले जाया गया.’

अस्पताल में हुई बुजुर्ग की मौत

बुजुर्ग को पहले नजदीकी अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन जब एंबुलेंस चालक ने सलाह दी कि उसे वहां प्रवेश नहीं मिलेगा, तो उसे पूर्वी दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल ले जाया गया. लगभग 7 बजे लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि वह आदमी मर गया. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने कहा है कि यह स्पष्ट नहीं है कि बुजुर्ग व्यक्ति कोविड-19 से पीड़ित था या नहीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *