Friday, January 27

खाद के लिए वेयर हाउस पर उमड़े किसान, टीआई को बांटने पड़े टोकन

खाद के लिए वेयर हाउस पर उमड़े किसान, टीआई को बांटने पड़े टोकन


छतरपुर
शनिवार को लगभग 1500 मीट्रिक टन खाद पहुंचने के बाद सोमवार से खाद का वितरण शुरू हो गया है लेकिन बोवनी के लिए खाद खरीदने पहुंच रहे किसानों की संख्या और खाद की आपूर्ति में अंतर होने के कारण अव्यवस्थाएं फैल रही हैं। सोमवार को पन्ना नाके के वेयर हाउस पर खाद खरीदने के लिए लगभग दो हजार किसान पहुंच गए जबकि यहां दिन भर में लगभग 600 किसानों को खाद वितरित किए जाने की तैयारी की गई थी। गोदाम  पर खाद को प्राप्त करने के लिए धक्का-मुक्की और हंगामा शुरू हो गया। स्टाफ ने इसकी सूचना पुलिस और प्रशासन को दी जिसके बाद सिविल लाइन थाना प्रभारी पुष्पेन्द्र मिश्रा ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझाया और खुद 600 किसानों को टोकन वितरित कर उन्हें पंक्तिबद्ध कराया।

उल्लेखनीय है कि जिले भर के किसान छतरपुर के उक्त वेयर हाउस से नगद रूपए में खाद खरीद सकते हैं जिन किसानों को अपने क्षेत्रों में सोसायटी से खाद नहीं मिल पा रही है वे बड़ी संख्या में छतरपुर के गोदामों पर खाद लेने पहुंच रहे हैं। पन्ना नाके के वेयर हाउस के गोदाम प्रभारी विशाल मिश्रा ने बताया कि विगत रोज 100 टन डीएपी खाद की दो हजार बोरियां पहुंची हैं जिसका वितरण दो दिन के भीतर हो जाएगा। सोमवार को यहां सुबह से ही किसानों की कतारें लग गईं। हर किसान को डीएपी की दो बोरियां देकर दिन भर में 600 किसानों को खाद वितरित करने की तैयारी थी लेकिन किसान ज्यादा संख्या में थे और पहले खाद लेने के लिए अव्यवस्था फैला रहे थे। वेयर हाउस पर व्यवस्था को बनाने के लिए पुलिस को मौके पर बुलाया गया जब पुलिस की मौजूदगी में 600 लोगों को टोकन बांटे गए तब जाकर दिनभर खाद वितरण हो सका।

30 किमी दूर से आ रहे किसान
सिविल लाइन थाना क्षेत्र के समीप बने इस वेयर पर नगद में खाद उपलब्ध हो जाता है इसलिए सोसायटियों में खाद नहीं मिल पाने के कारण मजबूर किसान यहां तक पहुंच रहे हैं। किसानों के सामने एक तकनीकी समस्या यह भी है कि कई किसान कर्जमाफी  योजना के कारण सोसायटियों में डिफाल्टर हैं अत: उन्हें सोसायटियों से खाद नहंी मिल पा रहा है। यही वजह है कि उन्हें जिला मुख्यालय तक आकर खाद लेना पड़ रहा है। सोमवार को अनगौर से आए किसान मुन्ना कुशवाहा ने बताया कि वे 30 किमी दूर से दो बोरी खाद खरीदने के लिए यहां तक आए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.