Friday, February 23

खाद संकट नहीं, कोरोना से रहें सावधान: शिवराज

खाद संकट नहीं, कोरोना से रहें सावधान: शिवराज


भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के किसान धीरज रखें, उनके लिए खाद की कमी नहीं होने दी जाएगी। खाद की उपलब्धता की समीक्षा के दौरान उन्होंने यूरिया, डीएपी और एनपीके की कमी वितरण केंद्रों में नहीं होने देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगले चौबीस घंटे में 32 अतिरिक्त रैक जिलों में पहुंचने वाले हैं, जिससे किसानों को खाद की उपलब्धता रहेगी। लोगों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि एनपीके और सुपर फास्फेट का उपयोग भी जरूरत के आधार पर किया जा सकता है। सरकार सभी खाद उपलब्ध करा रही है। इसको लेकर किसान हड़बड़ी में न आएं। नवम्बर में भी आवश्यक खाद की डिमांड पूरी की जाएगी। उन्होंने फिर दोहराया कि कलेक्टर और अन्य अधिकारी ध्यान दें कि खाद की कालाबाजारी नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने इस दौरान अफसरों से अब तक खाद के उठाव और भंडारण की जानकारी ली। जिन क्षेत्रों में खाद को लेकर ज्यादा शिकायतें आ रही हैं, वहां वितरण व्यवस्था को और मजबूत करने और किसानों के साथ नरमी से पेश आने के निर्देश दिए हैं।

सेकेंड डोज का काम हो तेज
कोरोना की समीक्षा भी सीएम चौहान ने शुक्रवार को दोपहर में की। इस दौरान कुछ जिलों में कोरोना के नए मामले बढ़ने पर उन्होंने कहा कि इससे सावधानी जरूरी है। जिले में अधिकारी कांट्रेक्ट टेÑसिंग जरूर कराएं ताकि यह संक्रमण का रूप न लेने पाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीन कोरोना कवच के रूप में काम कर रहा है। इसलिए जिन लोगों को दोनों डोज नहीं लगे हैं, उनकी तलाश कर मैसेज भेजें और दूसरा डोज लगाकर सुरक्षा दें। नागरिकों से उन्होंने अभी भी कोरोना से सावधान रहने की अपील की है।   

अब तक 2.99 लाख संबल हितग्राहियों को मिली मदद
सीएम हाउस में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने संबल योजना के 7700 हितग्राहियों के खातों में अलग-अलग योजनाओं के अंतर्गत 170 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए। चालू वित्त वर्ष में अब तक 66708 प्रकरणों में 588 करोड़ रुपए हितग्राहियों को पैसे भेजे जा चुके हैं। एक अप्रैल 2020 के बाद से अब तक योजना में 1.53 लाख से अधिक प्रकरणों में 1307 करोड़ रुपए दिए गए हैं। योजना प्रारंभ होने से अब तक 2.99 लाख से अधिक हितग्राहियों को संबल स्कीम में 2557 करोड़ रुपए वितरित किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *