Saturday, April 20

कलेक्टर शर्मा के निर्देश पर अपर कलेक्टर ने किया शासकीय कार्यालयों का औचक निरीक्षण

कलेक्टर शर्मा के निर्देश पर अपर कलेक्टर ने किया शासकीय कार्यालयों का औचक निरीक्षण


कोरिया
राज्य सरकार द्वारा शासकीय कर्मचारियों की कार्यक्षमता और उत्पादकता बढ़ाने के लिए पांच कार्य दिवस प्रति सप्ताह एवं मैदानी कार्यालयों के लिए कार्यावधि सुबह 10 बजे से शाम 5.30 निर्धारित की गई है। कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने साप्ताहिक समय सीमा की बैठक में भी आदेश के पालन के निर्देश दिए थे। इसी कड़ी में कलेक्टर के मार्गदर्शन में अपर कलेक्टर सुखनाथ अहिरवार ने संयुक्त कलेक्टर अनिल सिदार और श्रीमति आंकिता सोम के साथ बुधवार को जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के शासकीय कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिला कलेक्टोरेट कार्यालय, जिला महिला एवं बाल विकास कार्यालय, वन परिक्षेत्राधिकारी बैकुंठपुर, कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी, जनपद पंचायत बैकुंठपुर, कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं जिला अस्पताल का निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित अधिकारियों, कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। जिसमें जिला चिकित्सालय और सीएमएचओ आफिस के 59, कलेक्टोरेट के 71 कर्मचारियों, महिला एवं बाल विकास विभाग के 08, जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के 04, जनपद बैकुंठपुर के 22 कर्मचारियों और 6 अधिकारियों को भी नोटिस जारी किया जाएगा। उपस्थित ऐसे कर्मचारी जिनके द्वारा उपस्थिती पंजी में हस्ताक्षर नहीं किए गए थे, उन्हें भी समझाइश दी गई। अपर कलेक्टर अहिरवार द्वारा लंबे समय से अनुपस्थित कर्मचारियों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।  

जनपद सीईओ बैकुंठपुर, अंत्यावसायी, सहायक आयुक्त सहित 5 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस
निरीक्षण के दौरान जनपद पंचायत बैकुंठपुर सीईओ ए.के. पुसाम के कार्यालयीन समय पर अनुपस्थित पाए गए। साथ ही जनपद के अनुपस्थित  22 कर्मचारियों पर जवाबी कार्यवाही की जा रही है। इसी तरह अंत्यावसायी विभाग के अधिकारी कमलेश देवांगन, डीपीएम एनएचएम सुश्री रंजना पैंकरा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग डीडी तिग्गा, श्रम अधिकारी श्रीमती पायल शर्मा भी कार्यालयीन समय पर अनुपस्थित रहे।

जिला अस्पताल में उपस्थिति पंजी में पाई गई खामियां, इमरजेंसी एवं रोस्टर ड्यूटी वालों के ड्यूटी आदेश का होगा परीक्षण
जिला अस्पताल में डॉक्टरों, तकनीकी सहायकों, तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के उपस्थिति पंजी में लंबे समय से हस्ताक्षर ना होने पर अपर कलेक्टर ने सिविल सर्जन को जवाब तलब किया। उन्होंने समय पर पंजी में हस्ताक्षर करने के निर्देश दिए अन्यथा यथोचित कार्यवाही की जाएगी। अपर कलेक्टर ने बताया कि इमरजेंसी एवं रोस्टर ड्यूटी वाले डॉक्टर एवं कर्मचारियों के ड्यूटी आदेश का परीक्षण कर विचार किया जाएगा।

निरीक्षण के दौरान कार्यालय वन परिक्षेत्राधिकारी बैकुंठपुर मिला बंद
निरीक्षण के दौरान कार्यालय वन परिक्षेत्राधिकारी बैकुंठपुर बंद पाया गया, जिसपर अपर कलेक्टर अहिरवार ने नाराजगी जाहिर करते हुए सम्बन्धितों पर कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *