Saturday, April 20

ओवैसी ने पाकिस्तान को भी आईना दिखाया , कहा हमारे घर के मामले में दखल न दे

ओवैसी ने पाकिस्तान को भी आईना दिखाया , कहा हमारे घर के मामले में दखल न दे


नई दिल्ली
हिजाब विवाद पर मुखरता से बोल रहे असदुद्दीन ओवैसी ने पाकिस्तान को भी आईना दिखाते हुए कहा कि वह हमारे घर के मामले में दखल न दे। ओवैसी ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, 'पाकिस्तान के बारे में हम यह कहना चाहेंगे कि मलाला पर हमला पाक में हुआ। पाकिस्तान के संविधान के मुताबिक कोई गैर-मुस्लिम वहां का वजीरे आजम यानी प्रधानमंत्री नहीं बन सकता।' उन्होंने अपने ही अंदाज में पाकिस्तान को नसीहत देते हुए कहा कि तुम्हारे पास बलूचियों की समस्या है, न जाने क्या-क्या झगड़े हैं। आप यहां अपनी टांग या नाक न अड़ाओ। वरना जख्मी हो जाओगे।

लड़कियों की शिक्षा पर हमें ज्ञान न दे पाकिस्तान

ओवैसी ने कहा, 'पाकिस्तान के संविधान के हिसाब कोई गैर-मुस्लिम प्रधानमंत्री नहीं बन सकता है। हम पाकिस्तान के लोगों से कहेंगे कि यहां मत देखो। यह हमारे घर का मामला है, यहां मत देखो। अपने आप को देखो। पाकिस्तान में ही हमले के बाद मलाला को छोड़कर बाहर जाना पड़ा। लड़कियों की शिक्षा के मामले में पाकिस्तान हमें ज्ञान न दे।' बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी लगातार हिजाब पहनने का समर्थन कर रहे हैं। यही नहीं एक कॉलेज के बाहर अल्लाह हू अकबर के नारे लगाने वाली लड़की मुस्कान का भी उन्होंने जमकर समर्थन किया था। उनका कहना है कि मुस्कान बहादुर बेटी है और उसने अपने अधिकारों के लिए आवाज उठाने का काम किया है।

मुस्कान के वालिद से ओवैसी ने की बात, कहा- मुझे भी मिला है हौसला

इस बीच मुरादाबाद में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए खुद पर हमले का भी जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि मैं मौत से नहीं डरता हूं। मेरे मां-बाप ने पहले ही यह सिखा दिया था। दुआ करिए कि जब मेरी मौत हो तो कलमा नसीब हो। मैं मरने से नहीं डरता, मैं इस मौत के बाद के हिसाब से डरता हूं। यही नहीं ओवैसी ने नारेबाजी करने वाली लड़की मुस्कान और उसके परिजानों से भी बात की है। ओवैसी ने ट्वीट कर बताया, 'मांडया PES कॉलेज कर्नाटक की वह बहादुर हिजाबी लड़की 'बीबी मुस्कान' जिसने हिंदुत्व शरपसंदों का डट कर मुक़ाबला किया। मैंने मुस्कान और उनके वालिद साहब से बात की और मुस्कान की हिम्मत और जसारत की दाद दी, हौसला अफ़ज़ाई किया और कहा मुस्कान की बेबाकी को देख कर हमें भी हौसला मिला।'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *