Saturday, March 2

जब महिलाएं शराब पी सकती है, तो शराब बेच क्यों नहीं सकती : बीजेपी सांसद जर्नादन मिश्रा

जब महिलाएं शराब पी सकती है, तो शराब बेच क्यों नहीं सकती : बीजेपी सांसद जर्नादन मिश्रा


भोपाल. मध्यप्रदेश में शराब के ठेकेदारों और सरकार के बीच आई दरार के बाद अब शिवराज सरकार ही कुछ ठेकों पर अपने कर्मचारी नियुक्त कर शराब की दुकानें संचालित कर रही है। ऐसे में जह कांग्रेसियों ने देखा कि कुछ शराब की दुकानों पर महिला पुलिसकर्मी शराब बेच रही हैं तो इस पर राजनीति शुरू हो गई और कांग्रेस ने इसका जमकर विरोध भी किया। जिसके बाद शिवराज सरकार ने शराब की दुकानों पर महिला कर्मी नहीं बैठेंगी का निर्णय लिया।

हालांकि, मध्यप्रदेश के रीवा से बीजेपी के सांसद जर्नादन मिश्रा का कहना है कि “जब महिलाएं शराब पी सकती है वे शराब बेच क्यों नहीं सकती है, रीवा की महिला सबसे ज्यादा शराब की आदि है”।  इस बयान की निंदा करते हुए मंगलवार को पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि बीजेपी का असली चेहरा सामने आ गया है,बीजेपी की सोच क्या है यह बयान बताता है।  दूसरी तरफ, मोदी मास्क और शिवराज मास्क मार्केट में आने के बाद पीसी शर्मा ने कहा कि बीजेपी का मास्क एक ही है वो है कोरोना। मास्क पर लगे चेहरे ही बीजेपी के असली चेहरे है।

उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमण फैल रहा है, लेकिन जांच हो नहीं रही है, कोरोना पॉज़िटिव मरीज बढ़ते जा रहे है और सरकार झूठे आंकड़े पेश करने में लगी है।

कांग्रेस की 7 महिलाओं ने जलाया पुतला

दूसरी तरफ, मंगलवार को भोपाल महिला कांग्रेस की 7 महिलाओं ने सांसद जर्नादन मिश्रा के बयान की निंदा करते हुए उनका पुतला जलाया। इस दौरान कांग्रेसियों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा और केवल सात महिलाएं ही वहां पहुंची।


महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष संतोष कंसाना ने कहा कि बीजेपी की कथनी और करनी जनता के सामने आ रही है। सम्मान की सिर्फ बात करते है, महिलाओं का अपमान करना इनकी आदत है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने सांसदों पर लगाम लगाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *