Wednesday, December 7

WHO ने जताई चिंता- यूरोपीय देशों में बढ़ रहे हैं कोरोना के केस, मौत की दर में भी इजाफा

WHO ने जताई चिंता- यूरोपीय देशों में बढ़ रहे हैं कोरोना के केस, मौत की दर में भी इजाफा


 नई दिल्ली 
दुनिया भर में कोरोना के मामले घटे हैं। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चिंता जताते हुए कहा है कि दुनिया भर में यूरोप ही एक ऐसा प्रमुख क्षेत्र है जहां कोरोना वायरस के केस और इस संक्रमण से हुई मौतों की संख्या में पिछले हफ्ते बढ़ोतरी हुई है। दोनों ही मामले में आंकड़ा डबल डिजीट पर पहुंच गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि यूरोपीय क्षेत्र के 53 देशों में कोरोना के केस बढ़े हैं। 

महामारी को लेकर WHO की साप्ताहिक रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोप में इस संक्रमण से होने वाली मौतों की दर में भी 14 फीसदी का इजाफा हुआ है। यहां कुल 1.6 मिलियन नए केस मिले हैं और 21,000 से ज्यादा मौतें हुई हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले सात दिनों में यहां 513,000 नए केस मिले हैं। पूर्वी यूरोप के कई देशों में सक्रमण बढ़ने पर पाबंदी लगाई गई जिसमें रोमानिया और लातविया भी शामिल हैं। लातविया पूर्वी यूरोप का पहला देश है जहां संक्रमण बढ़ने के कारण लॉकडाउन लगाया गया है। यहां केवल 56 फीसदी वयस्कों को टीके की दोनों खुराक लगी है, जबकि यूरोप में टीकाकरण का दायरा 74.6 फीसदी है। रोमानिया में एक बार फिर रात का कर्फ्यू लगाया गया है और स्वास्थ्य पास को अनिवार्य किया गया है। 
 
रोमानिया में प्रति 10 लाख लोगों पर 19.25 मौतें दर्ज की गई हैं, जो दुनिया में सर्वाधिक है। रोमानिया में केवल 35.6 फीसदी लोगों का टीकाकरण हुआ है। इसी तरह बुल्गारिया में नए केस बढ़ने के खिलाफ लोगों को सड़क पर उतरना पड़ रहा है। यूरोप के दूसरे सबसे बड़े देश यूक्रेन में महामारी के दौरान पहली बार कोरोना के सर्वाधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं। यहां गत गुरुवार को प्रतिदिन के नए मामलों का आंकड़ा 22415 पर पहुंच गया।

यूरोपीयन सेंटर फॉर डिजीज प्रीवेंशन एंड कंट्रोल (ईसीडीसी) के मुताबिक टीका लगवाने में हिचक पूर्वी यूरोप और रूस में संक्रमण बढ़ने की प्रमुख वजह है। पूर्वी यूरोप के कई देशों में टीकाकरण दर केवल 24 फीसदी तक दर्ज की गई। इसके कारण इन देशों को मौत के बढ़ते मामलों से जूझना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.