Thursday, July 25

बिगड़े बोल, 100 झूठ बोलने वाले जिस दिन मरे होंगे उस दिन ग​हलोत जन्मे: केंद्रीय मंत्री

बिगड़े बोल, 100 झूठ बोलने वाले जिस दिन मरे होंगे उस दिन ग​हलोत जन्मे: केंद्रीय मंत्री


जयपुर 
राजस्थान में दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव में नेताओं की बयानबाजी का दौर चरम पर है। इसी बीच यहां उदयपुर में वल्लभनगर प्रत्याशी के समर्थन में केन्द्रीय न्याय एवं विधि राज्य मंत्री ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ अमर्यादित शब्द बोले। केंद्रीय मंत्री एसपी बघेल ने भाजपा प्रत्याशी हिम्मत सिंह झाला के लिए जनता से वोट मांगे। उन्होंने जहां भाजपा की केंद्र सरकार की जमकर तारीफ की, वहीं अशोक गहलोत सरकार को आड़े हाथों लिया। बघेल ने कहा कि "गहलोत केवल घोषणा मुख्यमंत्री हैं, 100 झूठ बोलने वाले जिस दिन मरे होंगे उस दिन गहलोत का जन्म हुआ होगा।" उन्होंने कहा कि "प्रदेश के लाखों किसान कर्ज माफी की बाट देख रहे हैं, युवा नौकरियों की मांग कर रहे हैं और उन्हें लाठियां मिल रही है। गहलोत सरकार के लोग पेपर आउट करवा कर बेरोजगारों के अरमानों का गला घोट रहे हैं।"

उपचुनाव को बताया सेमीफाइनल
केन्द्रीय मंत्री बघेल ने यहां मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि कि राज्य की गहलोत सरकार ने जो वादे किए थे उन्हें पूरा करने में असफल रही। ऐसे में यह दोनों उपचुनाव राजस्थान के राजनीति के लिए सेमी फाइनल है। इस बार दोनों चुनाव में भाजपा को जीत मिलेगी, लेकिन राजस्थान सरकार के कामकाज से जनता को काफी शिकायतें हैं। कांग्रेस सरकार ने राजस्थान के 2018 के चुनाव में अपने घोषणा पत्र में जो वादे किए थे उन्हें भी धरातल पर नहीं उतार पाई। इनमें किसानों की कर्जा माफी की बात हो या बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने की बातें। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि ऐसे में लगातार घोषणा करने के कारण मुख्यमंत्री गहलोत का नाम, घोषणा गहलोत कर देना चाहिए। राजस्थान की गहलोत सरकार को बने 3 साल हो गए, ऐसे में 3 साल में एक छोटा बच्चा दौड़ने लगता है, लेकिन गहलोत की सरकार घुटने के बल रेंग रही है।

मोदी सरकार की तारीफ
केन्द्रीय मंत्री बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि जिस प्रकार से नरेंद्र मोदी ने देश की बागड़ोर को संभाल रखा है, देश की सभी प्रकार की व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से चलाए रखा है, कोविड-19 में जिस प्रकार से प्रबंध किया और जिसकी संपूर्ण विश्व में भारत की सराहना की गई, ऐसा भारत के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *