Thursday, February 9

भोपाल में 66 पॉजिटिव मिले, इब्राहिमगंज में रविवार से 7 दिन का लॉकडाउन

भोपाल में 66 पॉजिटिव मिले, इब्राहिमगंज में रविवार से 7 दिन का लॉकडाउन


भोपाल। राजधानी में मानसून की रफ्तार भले ही न के बराबर हो, लेकिन कोरोना की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। शुक्रवार को भोपाल में 66 कोरोना से संक्रमित नए मरीज मिले हैं। इससे एक दिन पहले 48 संक्रमित मिले थे और इनमें से 45 नए भोपाल से थे। एक बार फिर चार इमली क्षेत्र में कोरोना से संक्रमित मरीज मिला। अरेरा कॉलोनी से तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इब्राहिमगंज क्षेत्र में एक व्यक्ति मिला कोरोना संक्रमित। सीआरपीएफ कैंप से दो जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एसबीआई बैंक से चार लोगों की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव

हमीदिया अस्पताल, जहांगीराबाद और चौक से नगर करोंद से एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके अलावा गौरीशंकर परिसर कटारा हिल्स से एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बावड़िया कला से तीन लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। लखेरापुरा क्षेत्र से एक ही परिवार के तीन सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जीएमसी से 3 लोग मिले कोरोना पॉजिटिव। इस तरह भोपाल में अब तक कुल मरीजो की संख्या 3401 हो गई है। इनमें से 2577 ठीक हो चुके हैं। कुल मौत 116 हो चुकी हैं और अभी भी 708 एक्टिव केस हैं।

जिला मजिस्ट्रेट लवानिया ने धारा 144 में आदेश जारी किए…

भोपाल कलेक्टर और जिला दंडाधिकारी अविनाश लावनिया ने जनता की सुरक्षा और कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए हनुमानगंज क्षेत्र के इब्राहिमगंज क्षेत्र में रविवार 12 जुलाई से 19 जुलाई तक लॉकडाउन करने के आदेश जारी कर दिए है।

इब्राहिमगंज क्षेत्र में 12 जुलाई सुबह 5 बजे से 19 जुलाई रविवार रात्रि 10 बजे तक क्षेत्र की सीमाएं सील रहेंगी। किसी भी व्यक्ति को घर से निकलने की अनुमति नहीं होगी। मेडिकल आपातकाल को छोड़कर दुकानें और संस्थान बन्द रहेंगे। बेरिकेटिंग कर क्षेत्र की सीमाओं को बन्द रखा जाएगा।

इस संबंध में कलेक्टर ने निर्देश जारी कर इब्रहिम गंज क्षेत्र की सीमाएं सम्बन्धित एसडीएम और नगर पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्धारित की जाएंगी। मेडिकल आपात काल और शव यात्रा को छोड़कर अन्य किसी भी कारण से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई नगर निगम के द्वारा की जाएगी।

कलेक्टर लवानिया ने बताया कि इस क्षेत्र में लागातर बढ़ते कोविड संक्रमण और मास्क नहीं लगाने, सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं करने, बिना काम के सार्वजनिक जगहों पर घूमने के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हो गई है, जिससे क्षेत्र की जनता को संक्रमण से बचाने के लिए सम्पूर्ण लॉक डाउन का निर्णय लिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.