Wednesday, April 17

गालवान घाटी में झड़प के बाद अमेरिका ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को बताया “धूर्त”

गालवान घाटी में  झड़प के बाद अमेरिका ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को बताया “धूर्त”


वाशिंगटन: भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए अमेरिका ने चीन की आलोचना करते हुए कहा कि चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी “दुष्ट यानी धूर्त”  है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी नाटो जैसी संस्थाओं के जरिये बनाई गई स्वतंत्र दुनिया को फिर से पुराने रास्ते पर लाना चाहती है। उन्होंने कहा कि जो कुछ भी भारत-चीन के बीच घटित हो रहा है वह दुनियाभर के लिए अच्छा संकेत नहीं हैं।

पोम्पियो ने कहा, “पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भारत के साथ सीमा विवाद को बढ़ाया है, जो कि दुनिया का सबसे बड़ी आबादी वाला लोकतंत्र हैं। उन्होंने कहा कि चीन गैरकानूनी तरह से कुछ क्षेत्र पर अपना दावा कर रहा है। पोंपियो ने इससे पहले गालवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में भारतीय सैनिकों की शहादत पर दुख जताया था।

पोम्पियो ने ‘यूरोप और चीन की चुनौती’ विषय पर एक वर्चुअल संबोधन में कहा कि आशा के इस दौर में पिछले कई वर्षों से पश्चिमी देश यह मानते रहे हैं कि चीन की कम्‍युनिस्‍ट पार्टी बदल सकती है और चीनी लोगों के जीवन स्‍तर को लंबे समय तक के लिए सुधार सकती है।

विदेश मंत्री ने कहा कि इसके साथ ही कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ने हमारी अच्‍छी राय का फायदा उठाया और दुनिया के सामने यह जताया है कि वह सहयोगी संबंध चाहता है। डेंग शियाओपिंग (पूर्व चीनी राजनेता) ने कहा था कि अपनी ताकत छिपाकर रखो और अपने समय का इंतजार करो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *