Thursday, April 18

उपचुनाव : नेता उमा भारती ने कराइ हेमा-स्मृति के बाद अब मिस्टर इंडिया की एंट्री

उपचुनाव : नेता उमा भारती ने कराइ हेमा-स्मृति के बाद अब मिस्टर इंडिया की एंट्री


भोपाल
मध्य प्रदेश उपचुनाव में फिल्मों का रंग चढ़ रहा है. पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जहां एक्टर बताया था, वहीं अरुण यादव ने हेमा मालिनी और स्मृति ईरानी की बात छेड़ दी थी. अब पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने मिस्टर इंडिया का नाम ले लिया है. उन्होंने पृथ्वीपुर उपचुनाव प्रचार के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पर जबरदस्त हमला बोला. उन्होंने कहा कि डेढ़ साल पहले प्रदेश को ऐसा मुख्यमंत्री मिला जो ‘मिस्टर इंडिया’ की तरह था. जैसे फिल्म में मिस्टर इंडिया दिखाई नहीं देता था, वैसे ये मुख्यमंत्री भी जनता को दिखाई नहीं देता था.

पृथ्वीपुर में उमा भारती बीजेपी प्रत्याशी शिशुपाल यादव के पक्ष में प्रचार कर रही थीं. उन्होंने कहा कि जब तत्कालीन मुख्यमंत्री ने जनता को दिखना बंद कर दिया तो  ऐसे मुख्यमंत्री को हटाना जरूरी हो गया. इसलिये उस सरकार को गिराना हमारा धर्म हो गया. पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा कि कमलनाथ की सरकार को गिराने में प्रद्युमन सिंह लोधी की बड़ी भूमिका रही. गौरतलब है कि प्रद्युमन सिंह लोधी कांग्रेस विधायक पद से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे, जो बाद में बीजेपी की तरफ से उपचुनाव जीते थे.

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने यहां जन सभा के दौरान अपनी ही पार्टी को घेर लिया. उन्होंने कहा कि ‘इस बुंदेलखंड में सब साधन हैं, सुविधाएं हैं, लेकिन गरीबी बहुत है. यहां सड़कें तो अच्छी हैं, लेकिन सड़क से दस किमी अंदर जाओ तो नजारा बदल जाता है. बेरोजगारी ही दिखाई देती है. अभी भी यहां के लोग पलायन करते हैं. लोग बड़ी संख्या में लोग मजदूरी करने दिल्ली जाते हैं. ये शर्म की बात है. मैं तो चाहती हूं कि यहां के लोग दिल्ली तो जाएं, लेकिन राज करने, मजदूरी करने नहीं. बुंदेलखंड में प्रकृति का खजाना, खनिज और वन संपदा बहुत है, लेकिन विकास शुरू होते ही दबंग उस पर कब्जा कर लेते हैं. गरीब आदमी मजदूरी करता रह जाता है. गरीब को घर और संपत्ति का स्वामित्त नहीं मिल पाता.

उमा भारती ने कहा कि ‘जब मैंने 2003 का विधानसभा चुनाव चुनाव लड़ा और मेरे नेतृत्व में पार्टी ने चुनाव करवाया तो कोई विश्वास ही नहीं करता था कि मैं यहां अपनी सरकार बना लूंगी, वो समझते थे कि गांव की मोड़ी ये क्या महल के राजा का मुकाबला करेंगी, लेकिन आप लोगों ने ऐसी धूल चटाई कि आज 15 साल बाद भी धूल साफ नहीं हो पाई.’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *