Saturday, December 3

G-20 सम्मेलन से पहले आज पोप फ्रांसिस से मिलेंगे पीएम मोदी, इटली के साथ नये रिश्ते की शुरूआत

G-20 सम्मेलन से पहले आज पोप फ्रांसिस से मिलेंगे पीएम मोदी, इटली के साथ नये रिश्ते की शुरूआत


रोम
पीएम मोदी इस वक्त काफी ज्यादा महत्वपूर्ण माने जाने वाले पांच दिवसीय विदेश दौरे पर हैं और दौरे के दूसरे दिन आज शनिवार को पीएम मोदी वेटिकन सिटी में पोप फ्रांसिस से मुलाकात करेंगे। शुक्रवार को इटली पहुंचे प्रधानमंत्री रोम में दो दिवसीय जी20 शिखर सम्मेलन से इतर पोप से मुलाकात करेंगे, जिसमें मोदी अपने इतालवी समकक्ष मारियो ड्रैगी के निमंत्रण पर भाग ले रहे हैं।

पोप फ्रांसिस से आज मुलाकात
आपको बता दें कि, वेटिकन सिटी रोम शहर से घिरा एक राज्य है और रोमन कैथोलिक चर्च का मुख्यालय है। इस साल का जी-20 शिखर सम्मेलन भी रोम में ही आयोजित किया जा रहा है, जिसमें भाग लेने के लिए विश्व के सुपरपॉवर्स पहुंचे हैं। बैठक में भाग लेने के लिए पीएम मोदी के अलावा अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों भी पहुंचे हैं। जी-20 शिखर सम्मेलन में पहले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी शामिल होने वाले थे, लेकिन रूस में कोरोना वायरस महामारी के ग्राफ में अचानक आई तेजी की वजह से पुतिन को अपना दौरा स्थगित करना पड़ा। आपको बता दें कि, पिछले साल का जी-20 शिखर सम्मेलन वर्चुअल हुआ था, जिसका होस्ट सऊदी अरब था।
 
जी-20 सम्मेलन का थीम
इस साल के जी-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता इटली कर रहा है और इस साल के इस सम्मेलन का थीम 'पीपुल, प्लानेट एंड प्रोस्पेरिटी' रखा गया है। जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के बाद पीएम मोदी वैश्विक नेताओं से मुलाकात करेंगे। इस कार्यक्रम के तहत पीएम मोदी की व्यक्तिगल मुलाकात फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो और सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली होसेन लूंग के साथ होगी। इसके अलावा, एएनआई की रिपोर्ट में संभावना जताई गई है कि, रविवार को पीएम मोदी की मुलाकात जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज और जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के साथ भी होने की उम्मीद है। इन बैठकों के दौरान पीएम मोदी "जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण और सतत विकास" पर चर्चा में भी भाग लेंगे।
 
समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इटली की राजधानी रोम में रविवार को सप्लाई-चेन में लचीलापन लाने के लिए भी एक वैश्विक शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा, जिसमें भी पीएम मोदी के शामिल होने की संभावना है। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-इटली संबंधों में विविधता लाने पर अपने इतालवी समकक्ष मारियो ड्रैगी के साथ शुक्रवार को व्यापक प्रतिनिधिमंडल स्तर के साथ वार्ता की है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि, दोनों नेताओं ने "द्विपक्षीय साझेदारी" की पंचवर्षीय कार्य योजना की समीक्षा की और व्यापार और निवेश संबंधों को और विस्तारित करने की प्रतिबद्धता दोहराई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.