Tuesday, November 29

चक्रवाती तूफान निसर्ग का मंडराया खतरा, 48 घंटों के लिए चेतावनी जारी

चक्रवाती तूफान निसर्ग का मंडराया खतरा, 48 घंटों के लिए चेतावनी जारी


देश के तटीय इलाकों पर एक और तूफान का खतरा मंडरा रहा है। महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय इलाकों के तरफ चक्रवाती तूफान तेजी से आगे बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने दोनों राज्यों में अगले 48 घंटे के लिए चेतावनी जारी कर दी है। वहीं अरब सागर में विकसित हो रहा चक्रवाती तूफान नर्सिग 3 जून को गुजरात में दस्तक दे रहा है। यही वजह है कि तूफान के मंडराते खतरे को देखते हुए गुजरात के साथ-साथ महाराष्ट्र, गोवा, दमन.दीव और दादरा नगर हवेली में भी अलर्ट जारी किया गया है।

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर के ऊपर कम दबाव का इलाके में सक्रीय हो गया है। इस दबाव के चलते उठा तूफान 2 या 3 जून को महाराष्ट्र और गुजरात के समुद्री तट से टकरा सकता है। गुजरात में तो निसर्ग तूफान का असर भी दिखना शुरू हो गया है। यहां के भावनगर में तेज बारिश हुई है। आईएमडी ने उत्तरी और दक्षिणी गुजरात तटों पर सभी बंदरगाहों पर चक्रवात अलर्ट जारी कर दिए हैं।

कहां-कहां असर डालेगा निसर्ग

अरब सागर में विकसित हो रहे इस सिस्टम की लोकेशन 1 जून को दोपहर के समय गोवा से 350 किमी दक्षिण-पश्चिम थी और मुंबई से 650 किमी दक्षिण व दक्षिण-पश्चिम थी। यह सिस्टम भारत के पश्चिमी तटों के साथ-साथ उत्तरी दिशा में आगे बढ़ रहा है और प्रभावी होता जा रहा है। अगले 24 घंटों में इसके तूफान बनने की संभावना है।

शाह ने की मुख्यमंत्रियों से चर्चा

‘निसर्ग’ तूफान के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार हरकत में आ गई है। गृह मंत्री अमित शाह ने इससे निपटने की तैयारियों को लेकर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के अधिकारियों और प्रभावित होने वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बैठक की। इस दौरान उन्होंने हर संभव मदद का भरोसा दिया। वहीं इससे होने वाली तबाही की आशंका को देखते हुए राज्य सरकारों ने निचले स्थानों पर रहने वालों को निकालने का आदेश दिया है। इसके साथ ही आधा दर्जन से अधिक जिलों में एनडीआरएफ की 10 टीमें तैनात की गई हैं।

एमपी और राजस्थान पर भी होगा असर

महाराष्ट्र गुजरात के अलावा मध्यप्रदेश और राजस्थान भी चक्रवाती तूफान निर्सग की चपेट में आएंगे। वहीं दादरा और नागर हवेली पर तूफान का असर देखने को मिलेगा। इन इलाकों में 3 से 5 जून के बीच अच्छी बारिश की संभावना भी जताई जा रही है। EDIT BY: AMIT TIWARI

Leave a Reply

Your email address will not be published.